चोटीकटवा का आतंक अब यूपी में भी, लोग रात भर जागकर दे रहे हैं पहरा

0
1339

दिल्ली के बाद अब उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों से चोटीकटवा के आतंक की खबर आ रही हैं लगातार चोटीकटवा का शोर अब बढ़ता ही जा रहा है। कुछ सालों पहले दिल्ली और उत्तर प्रदेश में मुंह नोंचवा का खौंफ था। जिसके चलते लोगों ने घरों की छतों पर सोना तो दूर रात के समय घरों से निकलना तक बंद कर दिया था। अब देश के तीन राज्यों में चोटी कटवा का खौंफ है। जिसमें अफवाह है कि महिलाओं के सिर में तेज दर्द होता है फिर बेहोश होने के बाद चोटी कट जाती है। दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, में कुछ महिलाओं ने दावा किया है कि एक साए ने अचानक उनके बाल काट दिए। चोटी और बाल काटे जाने के दिल्ली में तीन, हरियाणा में 17 और मथुरा में 6 मामले सामने आने का दावा किया गया है। हालांकि इन सबके बीच पुलिस-प्रशासन लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील कर रहा है। फिर भी दहशत में लोग रात-रात भर जागकर डंडों के साथ पहरा दे रहे हैं।

अब सिर पर कपड़ा बांधकर सो रहीं महिलाएं

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली से सटे गुरुग्राम में हाथ में डंडा लेकर पुरुषों और महिलाएं पहरा दे रही हैं। बाल काटने की ऐसी दहशत कि लोग रात-रात भर जागकर पहरा दे रहे हैं। गुरुग्राम की देवीलाल कॉलोनी के लोगों के मुताबिक पिछले दो दिनों में चोटी काटने की पांच घटनाएं हो चुकी हैं। महिलाओं में डर ऐसा है कि वो रात को सिर पर कपड़ा बांधकर सो रही हैं।

महिलाएं कह रहीं साये ने काटे बाल

वहीं हरियाणा के फतेहाबाद जिले में महिलाओं का दावा है कि एक साए ने इनके बाल काट दिए। इलाके के लोगों का कहना है कि यहां अब तक चोटी और बाल काटने की 8 से ज्यादा घटनाएं हो चुकी हैं। यहां भी लोग हाथ में डंडा लिए पहरेदारी कर रहे हैं। वहीं प्रशासन इन्हें अफवाह बता रहा है। फतेहाबाद के डीजी ने कहा है कि लोग बेवजह डर रहे हैं। जो भी चोटी काटने वाले शख्स के बारे में जानकारी देगा उसे 15 अगस्त को सम्मानित किया जाएगा।

तात्रिंक का सहारा लिया जा रहा है 

वहीं उत्तर प्रदेश में मथुरा के नगला शीशराम गांव में लोगों की घर की चौखट पर प्याज लटी दिखाई दी। यहां प्रेमवती नाम की एक बुजुर्ग महिला की भी चोटी काट ली गई। परिवार का दावा है कि प्रेमवती सो रही थीं, तभी एक साए ने आकर उनके बाल काट दिए। प्रेमवती के पति इस घटना से इतना डर गए कि उन्होंने एक तांत्रिक ही बुला लिया। तांत्रिक के कहने पर ही इन्होंने घर की दरवाजे पर प्याजा बांधा और घर की महिलाओं की बाजू में धागा।

घर पर लटकाये गये नींबू और नीम की पत्तियां

वहीं रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा बॉर्डर के पास दिल्ली के कांगनहेड़ी गांव में घरों के बाहर नींबू और नीम की पत्तियां लटकाईं गई हैं। गांव के लोगों ने बताया कि जब से यहां पर चोटी काटे जाने की घटना हुई है तब से महिलाओं में दहशत है। लोग दस बजे के बाद घर से बाहर नहीं निकलते। यहां पुलिस नहीं आ रही है इसलिए खुद ही पहरा देना पड़ रहा है।

अंधविश्स्वास और शरारत की मिलावट हैं चोटीकटवा

घटना महज कुछ जगह और हल्ला पूरे देश में हो रहा हैं इसे मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से इतना फैलाया जा रहा हैं जैसे ये कोई बड़ा युद्ध हो रहा हो, वास्तव मे चौकन्ना रहने की जरूरत तो दुश्मन देश से है यह चोटीकटवा तो किसी की शरारत मात्र है जिसे अंधविश्स्वास ने हवा दे रखी है प्रशासन ने लोगो से इन अफवाहों पर ध्यान न देने के लिए अपील की हैं ।