आज के दौर में भी सर्वाधिक प्रासंगिक हैं महात्मा गाँधी की शिक्षाएं

0
459
पत्रकारों को झांकी से सम्बंधित जानकारी देते सीएमएस के मुख्य जन-संपर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा साथ में मोरल एजुकेशन डिपार्टमेंट हेड वंदना गौड़

गणतन्त्र दिवस परेड में प्रथम पुरष्कृत सी.एम.एस. झाँकी पर शिक्षात्मक झाँकी मेला

लखनऊ, 30 जनवरी 2019: गणतन्त्र दिवस परेड में प्रथम पुरष्कृत सी.एम.एस. की झाँकी से आज लगभग 15,000 से अधिक छात्रों ने एकता व समरसता का पाठ पढ़ा, साथ ही उल्लास व उमंग से सराबोर वातावरण में अपनी उपस्थिति से लघु विश्व का अनूठा दृश्य उपस्थित किया। गणतंत्र दिवस परेड में प्रदर्शन के उपरान्त
सी.एम.एस. की झाँकी लखनऊ के सभी बच्चों, अभिभावकों, शिक्षकों व आम जनता के अवलोकनार्थ सी.एम.एस. कानपुर रोड प्रांगण में रखी गई।

यह झाँकी ‘ऐसा मस्तिष्क बनाओ, जैसा था गाँधी का’ विषय पर आधारित है एवं महात्मा गाँधी की ‘त्याग, सत्य और अहिंसा की नीति’ के जरिये विश्व समाज में एकता व शान्ति स्थापना का संदेश देती है।

कानपुर रोड कैम्पस में आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में झाँकी के विभिन्न पहलुओं, इसकी विशेषताओं व इसमें समाहित विचारों से पत्रकारों को अवगत कराते हुए सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के विचारो व उनकी शिक्षाओं की जितनी जरूरत आज के दौर में हैं, उतनी शायद पहले कभी नहीं रही।

गणतंत्र दिवस परेड में प्रथम पुरष्कृत रही ‘चल वैजयन्ती’ झाँकी

शिक्षात्मक-साँस्कृतिक प्रस्तुतियों की श्रेणी में भी प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कारों समेत 7 पुरस्कारो से सी.एम.एस. सम्मानित

लखनऊ, 30 जनवरी 2019: सिटी मोन्टेसरी स्कूल द्वारा गणतन्त्र दिवस समारोह में प्रदर्शित झाँकी ‘ऐसा मस्तिष्क बनाओ, जैसा था बापू का’ पुलिस लाइन, लखनऊ में आयोजित ‘बीटिंग द रिट्रीट’ समारोह में राज्यपाल श्री राम नाइक ने ‘चल वैजयन्ती’ पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। गणतंत्र दिवस परेड में यह झाँकी लोगों का प्रमुख आकर्षण केन्द्र रही, जिसने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के सत्य, अहिंसा, एकता व शान्ति के विचारों को सारे विश्व समाज में प्रचारित-प्रवाहित किया एवं जनमानस को ‘सर्वधर्म समभाव’, ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ एवं ‘जय जगत’ का संदेश दिया। इस झाँकी को अत्यन्त भव्य साज-सज्जा एवं समाजोपयोगी व प्रेरणादायी विचारों के लिए निर्णायक मंडल ने प्रथम पुरस्कार से नवाजा।

इसके अलावा, गणतन्त्र दिवस परेड में सी.एम.एस. महानगर कैम्पस के छात्रों की मनमोहक नृत्य प्रस्तुति ‘गंगा अब कुछ माँग रही है’ को प्रथम पुरस्कार, सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रस्तुति ‘तिरंगा हमारी शान’ ड्रिल, सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस की प्रस्तुति ‘बैग/पाइप बैण्ड’, सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) के बालकों की परेड एवं सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की बालिकाओं की परेड एवं पाइप बैण्ड प्रस्तुति को तृतीय पुरस्कार ने सम्मानित किया गया।

गणतन्त्र दिवस परिसमाप्ति समारोह ‘‘बीटिंग द रिट्रीट’’ के उपरान्त एक अनौपचारिक वार्ता में सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि महात्मा गाँधी की 150वीं जयन्ती के उपलक्ष्य में सिटी मोन्टेसरी स्कूल की झाँकी का एकमात्र उद्देश्य यही है कि सम्पूर्ण मानव जाति के हृदय में प्रेम व एकता की भावना को जगाकर पृथ्वी पर आध्यात्मिक सभ्यता की स्थापना की जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here