कोरोना की हृदय विदारक घटना जिसमें दिखी माँ की महान ममता!

0
691

सच और झूठ में झूलती कहानी?

इटली की महिला कोरोना की तीसरी ओर आखरी स्टेज में थी सामने उसका 18 महीने का बच्चा जो बहुत रो रहा था उसने अपनी आखरी इच्छा डाक्टरों से जाहिर की  वो अपने बच्चे को एक बार गले से लगाना चाहती थी डाक्टरों ने उसकी पूरी बॉडी को पारदर्शि मोम से कवर करके बच्चे को उसकी छाती पर लेटा दिया बच्चा तुरंत चुप हो गया और उसकी मां इस दुनिया से अलविदा हो गई …… मां की ममता महान हैं।
  • अजय शर्मा की वॉल से

एक तथ्य यह भी जो सच के करीब है:

सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह एक कोरोना संक्रमित महिला की तस्वीर है, जो अपने अंतिम समय में अपने बच्चे को सीने से लगाए है। इसे इटली की घटना बताई जा रही है। ट्विटर, फेसबुक से लेकर विभिन्न साइट पर इसे देखा जा सकता है, यहाँ तक कि कुछ न्यूज़ पोर्टल भी इसे साया कर चुके हैं।वहीँ AFB की फैक्ट चेक टीम का दावा है कि यह तस्वीर अमेरिका की है और इसका वर्ष है 1985, यानि इस कोरोना मामले से इसका कोई लेना-देना नहीं बनता है। वैसे मूल तस्वीर में यह महिला बैठी हुयी है, इसे लेटी हुयी दर्शाने के लिए कुछ कलाकारी भी कर दी गयी है।
हो सकता है कि मित्रों की मंशा यहाँ जागरूकता फ़ैलाने की हो और उसके लिए इसका उपयोग कर रहे हों, लेकिन क्या इसके लिए फ़र्ज़ी खबरों और तस्वीरों का उपयोग उचित है…
पहले एक नज़र उस कहानी पर, जिसे इस तस्वीर के साथ फैलाया जा रहा है- “इटली की महिला कोरोना की तीसरी ओर आखरी स्टेज में थी सामने उसका 18 महीने का बच्चा जो बहुत रो रहा था उसने अपनी आखरी इच्छा डाक्टरों से जाहिर की वो अपने बच्चे को एक बार गले लगाना चाहती हैं डाक्टरों ने उसकी पूरी बॉडी को पारदर्शी मोम से कवर करके बच्चे को उसकी छाती पर लेटा दिया बच्चा तुरंत चुप हो गया और उसकी मां इस दुनिया से अलविदा हो गई।”
  • सुमन सिंह की वॉल से
बहरहाल अब आप भी पढ़ें, उस असली रिपोर्ट को –
The photo description states: “ USA. SEATTLE. WASHINGTON, 1985. / Fred Hutchinson Cancer Center – Infant inside Laminar Air Flow Room protection from infection. The child has been irradiated prior to marrow transplant.”
The photo was credited to the late photographer Burt Glinn.In an email to AFP on April 15, 2020, Magnum Photos said its photo caption is accurate. Matthew Murphy, the Archive Director and Licensing Manager at Magnum Photo, said: “The image in question has nothing to do with Covid-19.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here