श्रीदेवी प्रकरण में दुबई में केस बंद, भारत पहुंचा शव

0
1260

 पार्थिव शरीर मुंबई पहुंचा, आज होगा अंतिम संस्कार

दुबई/मुंबई, 27 फरवरी। प्रसिद्ध भारतीय अभिनेत्री श्रीदेवी की दुबई में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत को दुर्घटनावश हुई करार देते हुए मामले की जांच बंद कर दी गई है। श्रीदेवी की मौत के मामले की जांच पूरी हो गई है। दुबई से उनका शव विशेष विमान से लाया देर रात मुंबई लाया गया। यहां उनके बड़ी संख्या में प्रशंसक और बॉलीवुड के कई कलाकार मौजूद थे।

दुबई पब्लिक प्रॉसिक्यूटर कार्यालय ने मंगलवार को फॉरेंसिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि श्रीदेवी की मौत दुर्घटनावश बाथटब में डूबने से हुई। दुबई में सभी कागजी कार्यवाही पूरी होने के बाद श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को दुबई हवाई अड्डे से मुंबई के लिए रवाना कर दिया गया। दुबई सार्वजनिक अभियोजन कार्यालय ने भारतीय अभिनेत्री श्रीदेवी की मृत्यु की परिस्थितियों की व्यापक जांच पूरा होने के बाद ही उनके परिवार को पार्थिव शरीर सौंपने की मंजूरी दी है।
उल्लेखनीय है कि भारतीय सिनेमा की पहली महिला सुपरस्टार 54 वर्षीय श्रीदेवी का निधन शनिवार देर रात जुमेराह अमीरात टॉवर्स में अपने होटल के कमरे में निधन हो गया था।

अंतिम संस्कार आज

श्रीदेवी का अंतिम संस्कार बुधवार दोपहर 3:30 बजे विले पार्ले के सेवा समाज शव दाह गृह में किया जाएगा। इस बात की जानकारी परिवार से जुड़े सूत्रों ने दी है। श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को सुबह 9:30 से दोपहर 12:30 बजे तक मुंबई के सेलिब्रेशन स्पोट्र्स क्लब में रखा जाएगा।

अमर सिंह के बाद स्वामी ने उठाए सवाल

अभिनेत्री श्रीदेवी की मौत पर अब वरिष्ठ भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सवाल उठाए हैं। स्वामी ने सवाल किया कि श्रीदेवी ने कभी हार्ड ड्रिंक नहीं लिया तो फिर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके शरीर में शराब के अंश कैसे मिले। स्वामी ने कहा कि डॉक्टर अचानक मीडिया के सामने आते हैं और बताते हैं कि उनकी मौत हार्ट फेलियर (कार्डियक अरेस्ट) से हुई। फिर पोस्टमॉर्टम में वजह कुछ और बताई जाती है। इस मामले में हमें इंतजार करना चाहिए, मीडिया में आ रही बातें स्पष्ट नहीं हैं। इसके साथ ही उन्होंने होटल की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल करते हुए पूछा कि सीसीटीवी कैमरों का क्या हुआ? इससे पहले राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने कहा था कि श्रीदेवी शराब नहीं पीती थीं। उनके मुताबिक श्रीदेवी कभी-कभार वाइन का सेवन किया करती थीं। लेकिन, वह हार्ड ड्रिंक नहीं लेती थीं।

मप्र विधानसभा ने नहीं दी श्रद्धांजलि, कांग्रेस ने जताई आपत्ति

मप्र विधानसभा में मंगलवार को दिवंगतों को श्रद्धांजलि दी गई। विधानसभा सचिवालय की ओर से पहले जारी की गई कार्यसूची में 11 दिवंगतों के नाम थे। विधानसभा ने देर रात संशोधित कार्यसूची जारी की, जिसमें 9 दिवंगतों के नाम हैं। कार्यसूची में पूर्व स्पीकर श्रीनिवास तिवारी, सुरेश सेठ, पूरन सिंह बेडिय़ा, तातूलाल अहिरवार, केशर बाई डामर, रघुनाथ झा, बोल्ला-बुल्ली रमैया, शशि कपूर, श्रीदेवी कपूर, भरत नारायण श्रीवास्तव एवं जम्मू कश्मीर के राजौरी में शहीदों को श्रंद्धाजलि देना तय था। लेकिन, बाद में शशि कपूर एवं श्रीदेवी के नाम हटा दिए गए। विधानसभा सूत्रों का कहना है कि श्रीदेवी की मौत के कारण अभी तय नहीं हुए हैं, जिसकी वजह से फिल्म जगत से जुड़े दिवंगतों के नाम हटाए गए हैं। इस पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति जताई है। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक गोविंद सिंह ने कहा कि श्रीदेवी सांप्रदायिकता का विरोध करती थीं। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा के दबाव में सरकार ने श्रीदेवी का नाम हटाया है।