सरकार ने चेताया: सोशल मीडिया को चुनाव प्रभावित करने की नहीं मिलेगी इजाजत

0
417

नई दिल्ली, 27 अगस्त 2018: केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म द्वारा डाटा के दुरुपयोग के मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा,इन माध्यमों को हम चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने की अनुमति नहीं दे सकते है। प्रसाद ने डिजिटल इकोनॉमी पर अर्जेंटीना के साल्टा में चल रही जी-20 देशों मंत्रियों की बैठक में यह बात कही।

उन्होंने साथी मंत्रियों को कहा कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया की पवित्रता से कभी भी समझौता नहीं होना चाहिए। जो भी इस प्रक्रिया को भ्रष्ट करना चाहते हैं,उन्हें रोकने और दंडित करने के लिए भारत हरसंभव उपाय करेगा। वहीं, मोदी सरकार की डिजिटल इंडिया अभियान के बारे में बताते हुए प्रसाद ने कहा कि डिजिटल इंडिया में हम किफायती तकनीकी के जरिए डिजिटल असमानता को दूर करते हुए डिजिटल समावेशन की ओर बढ़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमारे देश में 121 करोड़ मोबाइल फोन हैं,जिसमें से 45 करोड़ स्मार्ट फोन हैं। हमारे यहां 50 करोड़ इंटरनेट उपयोगकर्ता हैं और 2.5 लाख गांवों में ब्रॉडबैंड मौजूद है। वहीं, आधार के जरिए 122 करोड़ भारतीयों के बायोमैट्रिक की मौजूदगी डिजिटल समावेश की कहानी को और रफ्तार दे रहा है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा, करीब 30 करोड़ गरीब भारतीय मोबाइल और आधार के जरिए सामाजिक कल्याण की योजनाओं के लाभ सीधे अपने बैंक अकाउंट में हासिल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत के गांवों में तीन लाख कॉमन सर्विस केंद्र डिजिटल सेवाओं को प्रदान कर रहे हैं,इन्हें चलाने वाले ज्यादातर ग्रामीण युवक एवं महिलाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here