कैबिनेट मंत्री रहे नारद राय ने छोड़ी बसपा, सपा में जाने के दिए संकेत

0
1183

लखनऊ 3 अक्टूबर। अखिलेश यादव सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे बलिया के कद्दावर नेता नारद राय आज बहुजन समाज पार्टी से किनारा कर लिया। नारद राय ने बीते विधानसभा चुनाव में बसपा से चुनाव लड़ा था। मुलायम सिंह यादव के करीबी माने जाने वाले नारद राय को जब अखिलेश यादव ने टिकट नहीं दिया था, तब उन्होंने बसपा का दामन थामा था। उधर बहुजन समाज पार्टी ने कहा है कि नारद राय को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण बाहर किया गया है।

नारद राय ने कल दर्जन-भर से अधिक समर्थकों ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया। नारद राय ने भाजपा में जाने की संभावना से इन्कार कर दिया है। कल चंद्रशेखर नगर में अपने आवास पर नारद राय ने मीडिया को बताया कि समीक्षा बैठक में उन्होंने बसपा प्रमुख मायावती से आग्रह किया था कि पार्टी के कार्यकर्ता तो सिंबल देखकर निष्ठापूर्वक मतदान कर रहे लेकिन, कोऑर्डिनेटर किसी प्राइवेट कंपनी की तरह काम करते हैं। उन्होंने इसे सुधार करने का आश्वासन दिया था परंतु बाद की बैठकों में पुरानी व्यवस्था को ही उन्होंने कायम रखा। पूर्व मंत्री ने कहा कि बसपा के अंदर वह घुटन महसूस कर रहे थे।

नारद राय ने बताया कि इसके पूर्व सुबह मेरे आवास पर कार्यकर्ताओं की बैठक हुई जिसमें सभी ने एकमत से बसपा छोडऩे की राय दी। कार्यकर्ताओं की राय का आदर करते हुए बसपा छोड़ रहा हूं। बसपा की ओर से शाम को जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि उन्हें अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के नाते निष्कासित किया गया है। बसपा जिलाध्यक्ष रणजीत कुमार भारती ने इस बात की पुष्टि की है।

मुलायम सिंह की तारीफ

नारद राय ने अगले कदम के बारे में पूछे जाने पर कहा कि यह निर्णय कार्यकर्ताओं के मत से होगा। नारद राय ने बताया कि अपने आदर्श छोटे लोहिया जनेश्वर मिश्र के विचारों पर काम करते आ रहे हैं। उन्होंने मुलायम सिंह यादव की भी प्रशंसा की।

नारद राय एक समय समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता माने जाते थे लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान दो फाड़ होने के बाद उन्हें बसपा में जाना पड़ा। बसपा के टिकट पर मैदान में उतरने पर उन्हें सफलता नहीं मिली। चुनाव के बाद से ही उनका बसपा से मोहभंग हो गया था। कई दिनों से जारी अटकलों पर अंतत: कल उनके पार्टी छोड़ते ही विराम लग गया। अब सबकी नजर एक बात पर ही टिकी है कि वह किस दल का दामन थामेंगे।

Please follow and like us:
Pin Share