मायावती केवल राजनीतिक फायदा उठाने का प्रयास कर रही हैं: रामदास आठवले

0

रिपब्लिकन पार्टी आॅफ इण्डिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय राज्य मंत्री मा. रामदास आठवले ने कहा कि राज्य सभा से इस्तीफा देकर बसपा सुप्रीमो मायावती केवल राजनीतिक फायदा उठाने का प्रयास कर रही हैं। लेकिन देश का दलित समाज अब बहकावे में आने वाला नहीं है और उनका जनाधार जनता के बीच में धीरे-धीरे समाप्त हो रहा है। श्री आठवले ने नीतीश कुमार को एनडीए में आने का निर्णय का स्वागत करते हुये कहा कि उत्तर प्रदेश में आरपीआई के 50 लाख नये सदस्य बनाये जायेगें।

रविन्द्रालय में 29 जुलाई शनिवार को पार्टी के राज्य स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में भाग लेने लखनऊ आये हुये श्री आठवले ने पत्रकारों से वार्ता करते हुये कहा कि मायावती भाजपा को दलित विरोधी बता रही हैं जबकि पूर्व में बीजेपी के सहयोग से कई बार मुख्यमंत्री बन चुकी हैं। उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश में सम्पन्न हुये विधानसभा व लोकसभा चुनाव में बसपा को मिली हार में मायावती जी राजनीतिक रूप से हताश हो चुकी है और इसी के चलते चर्चा में रहने के लिए ही उन्होने राज्यसभा से इस्तीफा दिया है।

बिहार के छठी बार मुख्यमंत्री बने नीतीश कुमार को बधाई देते हुये श्री आठवले ने कहा कि नीतीश जी का निर्णय सराहनीय है और उनके इस प्रयास से बिहार का विकास होगा और भ्रष्टाचार से मुक्त भी होगा। उन्होने यह भी कहा एनडीए सरकार की जनकल्याणी योजनाओं के चलते एनडीए सरकार के प्रति जनता में विश्वास बढ़ रहा है। श्री आठवले ने कहा कि एनडीए सरकार की उज्जवला योजना, जनधन योजना, जीएसटी आदि के आने से आम जनता की भलाई हो रही है और आने वाले दिनों में और बेहतर परिणाम आयेगा।

रिपब्लिकन पार्टी आॅफ इण्डिया संगठन को उत्तर प्रदेश में मजबूत बनाने के निर्णय की जानकारी देते हुये कहा कि प्रदेश में 50 लाख नाम पार्टी के सदस्य बनाये जायेगें और मण्डल स्तर, जिला स्तर पर कार्यकर्ता सम्मेलनों आयोजित किये जायेगें। श्री आठवले ने दावा कि उत्तर प्रदेश में बसपा के विकल्प के रूप आर0पी0आई0 स्थापित होगी।

लखनऊ के वीवीआइपी गेस्ट में प्रेस वार्ता को सम्भोधित करते राम दस आठवले।