राष्ट्रीय पुस्तक मेला मोतीमहल लान में आज से

0
319
file photo

लखनऊ, 19 सितम्बर 2019: दस दिवसीय सत्रहवां राष्ट्रीय पुस्तक मेला राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान लखनऊ में कल से प्रारम्भ हो जायेगा। दि फेडरेशन आॅफ पब्लिशर्स एण्ड बुकसेलर्स एसोसिएशन्स इन इण्डिया, नई दिल्ली के सहयोग से के.टी.फाउण्डेशन व फोर्सवन द्वारा महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को समर्पित यह मेला 29 सितम्बर तक चलेगा।

मेले का उद्घाटन कल पांच बजे होगा। हर किताब पर कम से कम 10 फीसदी छूट के साथ मुफ्त प्रवेश वाले मेले में विमोचन, परिचर्चा, लेखक से मिलिये आदि विविध साहित्यक, लोकनृत्य कार्यषाला, कवि सम्मेलन, सांस्कृतिक कार्यक्रम व प्रतियोगिताएं बराबर चलेंगी। मुख्य आकर्षण प्रधानमंत्री पर आधारित आदमकद आकार की किताब होगी।

मनुष्य की सबसे अच्छी मित्र कहलाने वाली किताबों के इस मेले में उ.प्र. ओलम्पिक संध के महासचिव आनन्देश्वर पाण्डेय को प्रदेश गौरव सम्मान दिया जायेगा। लोकनृत्य कार्यशाला के संग उर्दू व गुजराती सिखाने की कक्षाएं चलंेगी। आई चेकअप कैम्प भी लगेगा।

मेले में दिल्ली, मुम्बई, अहमदाबाद, प्रयागराज सहित देश के प्रमुख प्रतिष्ठित पुस्तक प्रकाषक षामिल होंगे। उर्दू के कई स्टाल होंगे। पुस्तक मेले में  इस बार कथक, गजल, संगीत के विशिष्ट कार्यक्रम होंगे। साथ ही प्रदेश भर में पुस्तक मेले के संयोजक स्वर्गीय उमेश ढल की स्मृति में विशिष्ट कवि सम्मेलन व मुशायरा होगा। साथ ही धनुर्विद्या प्रदर्शन का कार्यक्रम होगा।

स्थानीय लेखकों के लिए अलग से निःशुल्क स्टाल की व्यवस्था है। 22 को किरन फाउण्डेशन के सौजन्य से ड्राइंग प्रतियोगिता से पहले 21 से ज्वाइन हैण्ड्स फाउण्डेशन व लोक आंगन के सौजन्य से रमेश पाल, सुबोध पाण्डे, संगीता चैlबे, ज्योति, रेखा सिंह व नन्दिनी जैसे प्रशिक्षकों के नेतृत्व में उत्तराखण्ड, गुजरात, असम, महाराष्ट्र व उत्तरप्रदेश के लोकनृत्य सिखाये जायेंगे। ओरियण्ट लैंग्वेज लैब के संयोजन में 21 से 29 तक उर्दू और 28 व 29 सितम्बर को गुजराती की कक्षाएं चलेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here