जन्नत उल बकी के पुनर्निर्माण के लिए आसफि मस्जिद में चला हस्ताक्षर अभियान 

0
734
लखनऊ 7 जुलाई: जन्नत उल बकी में पवित्र मजारों व कब्रों के पुनर्निर्माण के लिए मजलिसे ओलमाए हिंद की ओर से राष्ट्रव्यापी हस्ताक्षर अभियान 6 जूलाई को दरगाह हजरत अब्बास से शुरू हुआ। लगभग 5 हजार मर्दो लोगों ने इस हस्ताक्षर अभियान में भाग लेकर सऊदी सरकार के अत्याचार का विरोध किया और जन्नत उल बकी के पुनर्निर्माण की माॅग की। 7 जुलाई को जुमे की नमाज के बाद आसफि मस्जिद में हस्ताक्षर अभियान जारी रहा। इस अभियान में आसफि मस्जिद के हजारों नमाजियों ने भाग लिया । इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी, मौलाना मुराद रजा रिजवी, मौलाना रजा हुसैन, मौलाना फिरोज हुसैन व अन्य ओलमा ने हस्ताक्षर अभियान में शरीक होकर संयुक्त राष्ट्र से सऊदी अरब में जन्नत उल बकी के पुनर्निर्माण की माॅग की।
 
मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कहा कि इस हस्ताक्षर अभियान में अधिकतम लोग भाग लें और जन्नत उल बकी के पुनर्निर्माण के लिए संयुक्त राष्ट्र और भारत सरकार से मांग करें.मौलाना ने कहा कि सभी मुसलमानों को इस अभियान में शामिल होना चाहिए क्योंकि जन्नत उल बकी में पैगम्बर मौहम्मद साहब स0अ0 की बेटी जनाबे फातिमा जहरा के अलावा इमामों, सैकड़ों सहाबा एवं पैगम्बर साहब स0अ0 की पत्नियों की कब्रें हैं जिन्हें सउदी जालिम सरकार ने आज से 91 साल पहले ध्वस्त कर दिया था। आज सभी मुसलमानों का धार्मिक कर्तव्य है कि सऊदी सरकार के जुल्म और आतंक के खिलाफ विश्व स्तर पर विरोध प्रदर्शन करें।
ये हस्ताक्षर अभियान ईद के पुरे महीने शहर के विभन्न हिस्सों में जारी रहेगाा। ईद के महीने के बाद इन सभी हस्ताक्षरों को ज्ञापन के साथ संयुक्त राष्ट्र महासचिव और प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here