मैं पागल हूं, मुझे पागलों को दी जाने वाली सजा दो: सुरेंद्र कोली 

0

नई दिल्ली 02 नवंबर। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में निठारी कांड के पांच मामलों में सीबीआई की विशेष अदालत में सुनवाई हुई। अभियुक्त सुरेंद्र कोली और मोनिंदर सिंह पंधेर को कोर्ट में पेश किया। कोली ने विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी की कोर्ट में धारा 329 ए के तहत एक अर्जी दी, जिसमें उसने कोर्ट में बताया है कि वह पागल है और उसे पागल प्रवृति के लोगों को दी जाने वाली सजा मिले।

सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक जेपी शर्मा का कहना है कि एक केस में आरोपी इंस्पेक्टर सिमरजीत कौर पेश नहीं हुई। उनके वकील ने हाजिरी माफी का प्रार्थनापत्र दिया। विशेष लोक अभियोजक ने कहा कि कोली ने अपनी बहस में कहा कि केंद्र सरकार के आला अधिकारी मंजुला कृष्णम, बलविंदर कुमार, बीएन गौड़, जेएस कोचर, केएस स्कंद को कोर्ट में तलब किया है। इस मामले में कोली की यह दूसरी अर्जी है, इससे पहले भी वही केंद्र एवं राज्य सरकारों के आलाधिकारियों को पेश करने की अर्जी दे चुका है, जिसे खारिज कर दिया था।

वहीं, कोली ने विनोद कुमार, मूर्ति देवी और संजू की दोबारा गवाही की मांग भी की। विशेष लोक अभियोजक ने कोर्ट को बताया कि कोली कोर्ट का समय व्यर्थ करना चाह रहा है। खराब कराना चाहता है। दो केसों में अगली सुनवाई 23 नवंबर और तीन केसों की अगली सुनवाई १ दिसंबर को होगी। जेपी शर्मा की माने कि पिछली कई तारीखों पर सुरेंद्र कोली ने अपने दाएं हाथ में दर्द बताया था, जिसके बाद कोर्ट ने जेल अधीक्षक को तलब किया था। वहीं, जेल के डॉक्टर की रिपोर्ट में कोली फिट था, लेकिन कोर्ट में पेश हुए कोली ने अब अपने बाएं हाथ में दर्द बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here