सफलता का शार्टकट नहीं है, बस परिश्रम ही एक मात्र विकल्प है : डा. नवनीत सहगल

0
1845

सी.एम.एस. ने आज एक भव्य समारोह में अपने उन मेधावी छात्रों को पुरष्कृत कर सम्मानित किया जिन्होंने आई.एस.सी. (कक्षा-12) बोर्ड परीक्षा की नेशनल मेरिट लिस्ट के प्रथम, द्वितीय व तृतीय तीनों स्थान पर कब्जा जमाकर लखनऊ का गौरव बढ़ाया है।

इस अवसर पर सी.एम.एस. प्रबन्धन ने घोषणा की है कि आई.सी.एस.ई (कक्षा-10) एवं आई.एस.सी. (कक्षा-12) की बोर्ड परीक्षा में 99 प्रतिशत से अधिक अंक अर्जित करने वाले विद्यालय के 59 छात्रों को 64 लाख रूपये के नगद पुरस्कार से नवाजा जायेगा, जिनमें प्रथम नेशनल रैंक अर्जित करने वाले 5 छात्रों को 2-2 लाख रूपये एवं शेष 54 छात्रों को एक-एक लाख रूपये के नगद पुरस्कार से नवाजा जायेगा।

समारोह के मुख्य अतिथि डा. नवनीत सहगल, आई.ए.एस., एडीशनल चीफ सेक्रेटरी, सूचना एवं जन-संपर्क विभाग, उ.प्र., ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया एवं मेधावी छात्रों को पुरष्कृत कर सम्मानित किया। इस अवसर पर डा. सहगल ने कहा कि सी.एम.एस. छात्रों की यह उपलब्धि लखनऊ के लिए गौरव की बात है, जिससे अन्य छात्रों को भी प्रेरणा मिलेगी। आगे बोलते हुए डा. सहगल ने कहा कि सफलता का शार्टकट नहीं है, बस परिश्रम ही एक मात्र विकल्प है। अतः छात्रों को आज से व अभी से अपनी तैयारी में जुट जाना चाहिए।

इस अवसर पर संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने बताया कि इस वर्ष आई.एस.सी. बोर्ड परीक्षा में सी.एम.एस. से कुल 3109 छात्र परीक्षा में बैठे, जिसमें से 2023 छात्रों ने 90 प्रतिशत से लेकर 99.75 प्रतिशत तक अंक अर्जित किये हैं। आई.एस.सी. में सीएमएस के 24 छात्रों ने 99 प्रतिशत अंक अर्जित किये है। इसी प्रकार, आई.सी.एस.ई. परीक्षा में सी.एम.एस. के 35 छात्रों ने 99 प्रतिशत से अधिक अंक अर्जित किये हैं। डा. गाँधी ने बताया कि आई.सी.एस.ई. (कक्षा-10) में सी.एम.एस. के 2314 छात्रों ने 90 प्रतिशत से लेकर 99.80 प्रतिशत तक अंक अर्जित किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here