चारबाग होटल अग्निकांड में दलित अभियन्ता के गलत निलम्बन पर अभियन्ता भड़के

0
292

दलित अभियन्ता बोले: निलम्बन हो वापस नहीं तो जल्द हो आर-पार की लड़ाई का ऐलान

लखनऊ, 16 नवंबर 2018: उप्र पावर आफिसर्स एसोसिएशन की प्रान्तीय कार्य समिति की बैठक में चारबाग के एक होटल में आगजनी के मामले में दलित अधिशाशी अधियन्ता श्री एके दोहरे के निलम्बन पर दलित अभियन्ताओं ने आक्रोश जताया। दलित अभियन्ताओं ने आज की बैठक में प्रबन्धन से यह माॅग उठायी है कि श्री एके दोहरे को तत्काल बहाल किया जाए।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से एकतरफा कार्यवाही में अभियन्ताओं को निशाना बनाया गया है यह दुर्भाग्य की बात है। सही तरीके से सभी का पक्ष लिया गया होता तो बिजली विभाग के अभियन्ताओं के खिलाफ इस प्रकार कार्यवाही की नौबत न आती। उन्होंने कहा कि समय रहते मध्यांचल कम्पनी द्वारा दलित अभियन्ता को बहाल न किया गया तो पूरे प्रदेश के दलित अभियन्ता आन्दोलन करने के लिये विवश होगे, इस सम्बन्ध में बहुत जल्द ही निर्णय लिया जायेगा।

आज की इस बैठक में उप्र पावर आफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष केबी राम, कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा, अति महासचिव अनिल कुमार, सचिव आरपी केन, लेसा अध्यक्ष अजय कुमार, मध्यांचल , संगठन सचिव प्रेम चन्द्र,पीपी सिंह, रंजीत कुमार, विकास दीप ने कहा कि मध्यांचल प्रशासन को सभी अभियन्ताओं से जवाब लेकर अविलम्ब सभी का निलम्बन वापस लेना चाहिये, जिससे अभियन्ताओं का रोष समाप्त हो। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से जल्दबाजी में कार्यवाही की गयी है उससे ऐसा प्रतीत होता है कि बिजली विभाग के अभियन्ताओं पर पूरा ठीकरा फोड़कर प्रशासन पूरे मामले को ठंडे बस्ते में डालना चाहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here