आतंकवाद मानवता के लिए आज सबसे बड़ा खतरा: मोदी

0
121
  • राष्ट्र प्रायोजित आतंकवाद को सबसे बड़ा खतरा बताते हुए बोले पीएम मोदी
    दोनों देशों के बीच पहली बार शुरू होगी फेरी सेवा

नई दिल्ली, 10 जून 2019: पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि राष्ट्र प्रायोजित आतंकवाद मानवता के लिए आज सबसे बड़ा खतरा है। उन्होंने नेताओं से आतंकवाद की समस्या से मिलकर लड़ने को कहा।

मालदीव की संसद मजलिस को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत और मालदीव के रिश्ते इतिहास से भी पुराने हैं। उन्होंने कहा, आज मैं इस बात पर जोर देना चाहता हूं कि मालदीव में लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए हर भारतीय आपके साथ है। मोदी ने कहा कि आतंकवाद न केवल देश के लिए बल्कि पूरी सभ्यता के लिए खतरा है।

उन्होंने कहा, समुदाय ने जलवायु परिवर्तन जैसी चुनौतियों पर सम्मेलन और बैठकें आयोजित की हैं, अब उसे आतंकवाद के मुद्दे पर भी साथ में आना चाहिए। अब आतंकवाद पर नियंत्रण सम्मेलन का समय है। उन्होंने कहा, बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग आज भी अच्छे आतंकवादियों और बुरे आतंकवादियों के बीच अंतर करने की गलती कर रहे हैं। भारत ने पहले देश में आतंकवादी हमलों के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया था और उससे उसकी सरजमीं से पनप रहे आतंकी संगठनों को समर्थन देना बंद करने को कहा था।

मोदी ने कहा, ‘‘पानी अब सिर से ऊपर जा रहा है।’ उन्होंने दुनिया के नेताओं से आतंकवाद से मिलकर लड़ने को कहा। मालदीव में आजादी, लोकतंत्र, समृद्धि और शांति के लिए भारत उसके साथ खड़ा है। मोदी ने संसद में कहा, आज मालदीव में और मजलिस में मैं आपके बीच आकर बहुत खुश हूं। 

भारत-मालदीव के बीच छह समझौतेमाले (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलेह ने कई मुद्दों पर बातचीत की। दोनों देशों ने रक्षा और समुद्र समेत महत्वपूर्ण क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए छह समझौतों पर हस्ताक्षर किए। पहला एमओयू जल विज्ञान संबंधी मामलों के क्षेत्र में सहयोग के लिए किया गया। दूसरा करार स्वास्य के क्षेत्र में किया गया।

कहा, भारत और मालदीव के रिश्ते इतिहास से भी पुराने:

भारत और मालदीव दोनों देशों के बीच संपर्क को बेहतर बनाने के लिए एक फेरी सेवा शुरू करने पर सहमत हुए। दोनों देशों के शीर्ष नेताओं ने केरल के कोच्चि तथा मालदीव की राजधानी माले के बीच यात्री तथा माल ढोने वाली एक फेरी सेवा शुरू करने के लिए अधिकारियों को तेजी से काम करने के निर्देश दिए। मोदी ने कहा, ‘‘मैं विशेष तौर पर खुश हूं कि हम दोनों देशों के बीच फेरी सेवा शुरू करने पर सहमत हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here