डॉयनासोरों के प्राचीन अंडे खोलेंगे उनके जन्म का राज?

0
2621
file photo

नई दिल्ली, 24 मार्च 2019: दुनिया में पृथ्वी की उत्त्पत्ति कैसे हुयी यह वैज्ञानिकों के लिए हमेशा से जिज्ञाषा का विषय रहा है, और फिर इसके बाद जीवों की उत्त्पत्ति कैसे हुयी? यह भी बड़ी खोज का विषय रहा! अभी हाल ही में वैज्ञानिकों ने विश्व में डायनोसॉर के सबसे पुराने ज्ञात अंडों के बारे में कुछ सूचनाएं एकत्रित की हैं जो दुनिया के लिए विशेष कौतुहल का विषय है।

मीडिया ख़बरों के अनुसार बता दें कि विश्व में डायनोसॉर के सबसे पुराने ज्ञात अंडों से वैज्ञानिकों ने इस विशालकाय जीव की उत्पत्ति के बारे में नई सूचनाएं निकाली हैं। कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो मिसिसॉगा के अनुसंधानकर्ताओं ने अज्रेंटीना, चीन एवं दक्षिण अफ्रीका में खोजे गए स्थानों पर इन अंडों एवं अंडे के छिलकों के जीवाश्म अवशेषों का अध्ययन किया।

अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि 19.5 करोड़ साल पुराने ये अंडे जीवाश्म रिकॉर्ड में ज्ञात सबसे प्राचीन अंडे हैं। ये सभी अंडे सॉरोपॉड्स ने दिए थे।

सॉरोपोड्स चार से आठ मीटर लंबे तथा लंबी गर्दन वाले शाकाहारी जीव थे और अपने समय के सबसे आम एवं दूर-दूर तक पाए जाने वाले डायनोसॉर थे। टोरंटो यूनिवर्सिटी के रॉबर्ट रीस्ज ने कहा, जीवाश्म रिकॉर्ड में रेंगने वाले एवं स्तनपायी परभक्षियों के 31.6 करोड़ साल पुराने कंकाल मौजूद हैं लेकिन 12 करोड़ साल बाद तक भी उनके अंडों एवं अंडों के खोलों के बारे में हम कुछ भी नहीं जानते हैं।

रीस्ज ने एक बयान में कहा, यह बड़ा रहस्य है कि ये अंडे अचानक से इस समय नजर आए हैं और इससे पहले नहीं दिखे थे। बेल्जियम की घेंट यूनिवर्सिटी के एक अनुसंधानकर्ता कोइन स्टेन के मुताबिक ये अंडे डायनोसॉरों में प्रजनन प्रक्रिया के क्रमिक विकास का पता लगाने की दिशा में अहम कदम साबित हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here