बरसात से निपटने में सरकार फिसड्डी : कांग्रेस ने लगाया जनता की उपेक्षा का आरोप

0
753

लखनऊ। कांग्रेस पार्टी का आरोप है कि बरसात से होने वाली परेशानियों से निपटने में सरकार फिसड्डी साबित हुई है। कांग्रेस का कहना है कि
बरसात के शुरू होने के पूर्व प्रदेश सरकार द्वारा बाढ़ से बचाव के लिए कोई पुख्ता इन्तजाम न किये जाने के चलते आज प्रदेश के विभिन्न जनपदों गोण्डा, लखीमपुरइखीरी, बहराइच आदि में बाढ़ से आम जनता त्रस्त है और जानमाल का खतरा उत्पन्न हो गया है।

कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आरए प्रसाद ने कहा कि बाढ़ के चलते बीमारियां पैदा हो रही हैं और अस्पतालों में व्याप्त घोर अव्यवस्था के चलते लोगों को समुचित चिकित्सा नहीं मिल पा रही है। जानवरों के लिए चारे की समस्या पैदा हो गयी है। गांवों में जलभराव के चलते लोगों को शुद्घ पेयजल उपलब्ध नहीं हो रहा है। आम जनता घोर निराशा में डूबी हुई है। कई जगहों से जानमाल के नुकसान की भी खबरें आ रही हैं। किन्तु प्रदेश सरकार ने अभी तक कोई भी कदम नहीं उठाया है।
प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार और स्वास्थ्य विभाग ने मच्छरजनित डेंगू जैसी गंभीर बीमारी को रोकने के लिए प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बरसात के पानी के जलभराव के चलते डेंगू बड़ी तेजी से अपना पैर पसार रह है। राजधानी में 15 से अधिक डेंगू के मरीज विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। पिछले वर्ष डेंगू से लगभग डेढ़ सौ लोगों की मृत्यु हुई थी। मच्छरजनित इस महामारी को रोकने के लिए न तो अभी तक फागिंग, साफ-सफाई एवं अस्पतालों में समुचित चिकित्सा की व्यवस्था प्रदेश सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग ने अभी तक नहीं की है। कमोवेश यही हाल पूरे प्रदेश का है। आम जनता में डेंगू, मलेरिया एवं चिकनगुनिया को लेकर भय व्याप्त है।
श्री प्रसाद ने कहा कि उप्र कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश के सभी कांग्रेसजनों से अपील की है कि वह बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में जाकर आम जनता की हर संभव मदद करने में अपनी भूमिका निभायें।