मंदिर का जीणोद्धार कराने के लिए बाबर ने जारी किया था फारसी भाषा में फरमान

0
633

 बाबर का फारसी भाषा में लिखा फरमान सुप्रीम कोर्ट में, मंदिर का जीणोद्धार कराने बाबर ने जारी किया था फरमान

आजमगढ़,20 फरवरी। अयोध्या में राम जन्मभूमि विवाद को लेकर एक नया दस्तावेज़ सामने आया है। जिससे अयोध्या मंदिर निर्माण के कार्य में लगे लोगों को अपनी जीत पर बड़ा भरोसा हो गया है।

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ निवासी तथा राजशाही व्यवस्था के समय आनरेरी मजिस्ट्रेट रहे रायसाहब रास बिहारी लाल के पुत्र अनूप कुमार श्रीवास्तव ने एक दस्तावेज सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को भेजा है। अनूप कुमार श्रीवास्तव के अनुसार उन्हें अपने बाबा के दस्तावेजों से एक ऐसा अभिलेख मिला है, जो राम मंदिर के जीर्णोद्धार से संबंधित है।
बाबर द्वारा अपने सेनापति को फारसी भाषा में लिखे गए इस फरमान में उल्लेख है कि अयोधया की उस इमारत का जीर्णोद्धार कराया जाए जो हिंदुओं के अवतार के (जन्म) लेने की जगह है। दावा किया गया है कि इस आदेश के बाद ही 935 हिजरी में मीर बाकी ने बाबरी मस्जिद का निर्माण कराया।

अनूप श्रीवास्तव ने इस ऐतिहासिक दस्तावेज की एक प्रति महंत नृत्य गोपाल दास को भी भेजी है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को भी यह ऐतिहासिक दस्तावेज भेजकर इसे सुप्रीम कोर्ट के विवाद में चल रहे दस्तावेजों में शामिल करने का अनुरोध किया गया है। इस फरमान के मिलने से राम मंदिर आंदोलन से जुड़े लोगों में एक नई आशा जगी है, अब उन्हें सुप्रीम कोर्ट से जो फैसला मिलेगा, वह उनके हक में होगा।