भाजपा और कांग्रेस से समान दूरी बनाकर चल रही हैं ममता

0
484

                             2019 में विपक्ष का चेहरा बनने की तमन्ना

नई दिल्ली  02 जनवरी-2017। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खास रणनीति के तहत कांग्रेस से दूरी बना ली हैं। ममता ने यह रणनीति राहुल गांधी द्वारा कांग्रेस की कमान संभालने के बाद बनाई है। इसका असर संसद में भी दिख रहा है, जहां टीएमसी कांग्रेस की अगुआई वाले विपक्ष के साथ दिखने से परहेज कर रही है। ममता बनर्जी 2019 के आम चुनाव से पहले अपने पत्ते नहीं खोलेंगी। इस बीच वह कांग्रेस और बीजेपी से समान दूरी बनाकर रखेंगी। राज्य में बीजेपी का विरोध करेंगी और केंद्र में अहम बिल पर बीजेपी को समर्थन भी देंगी। तीन तलाक बिल पर टीएमसी पूरी बहस से दूर रही। टीएमसी सूत्रों के अनुसार, 2019 से पहले ममता बनर्जी के सामने किसी गठबंधन के साथ जाने की कोई राजनीतिक मजबूरी नहीं है। अपने राज्य में वह अब भी मजबूत हैं।

ऐसे में ममता किसी एक गठबंधन के साथ जाकर अपनी राजनीतिक कीमत को कम नहीं करना चाहतीं। पश्चिम बंगाल के अलावा ममता बनर्जी की नजर दिल्ली पर भी है। नीतीश कुमार के एनडीए में शामिल होने के बाद विपक्षी गठबंधन में एक चेहरे का अभाव है। हाल के दिनों में राहुल की बढ़ती सक्रियता के बाद ममता समानांतर ताकत बनना चाहती हैं, ताकि अगर 2019 में गैर-कांग्रेस या गैर-बीजेपी किसी चेहरे की जरूरत हो तो वह अपना दावा पेश कर सकें। यही कारण है कि वह कांग्रेस दूर हैं, लेकिन बाकी विपक्षी दलों से वह रिश्ते सुधार रही हैं। नवीन पटनायक, शरद पवार के अलावा हाल के दिनों में उन्होंने शिवसेना तक से दोस्ती का हाथ बढ़ाया है।

गुजरात चुनाव परिणाम के तुरंत बाद ममता ने हार्दिक पटेल को बधाई दी और उन्हें अपने राज्य आने का न्योता दिया। कुछ राजनीतिक घटनाक्रमों के कारण भी ममता की कांग्रेस से दूरी बनी है। कांग्रेस ने ममता की बजाय लेफ्ट को ज्यादा तरजीह दी है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में लेफ्ट के साथ कांग्रेस ने गठबंधन किया था, जबकि ममता कांग्रेस के साथ गठबंधन करने को इच्छुक थीं। पश्चिम बंगाल में बड़ी जीत के बाद ममता बनर्जी ने कहा था कि किस तरह वह विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस से गठबंधन के लिए दिल्ली में तीन दिनों तक थीं, लेकिन पार्टी के किसी नेता ने बात तक नहीं की। ममता कुल मिलाकर 2019 के लिए अपनी राजनीतिक संभावनाएं बढ़ाना चाहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here