फेस्टिव सीजन में द बॉडी शॉप महिला सशक्तिकरण को देगा खुशियों भरी सौगात

0
722

त्योहारों की शुरुआत होने वाली है और यह समय अपने साथ खुशियां, रोशनी अपनों का साथ और निश्चित रूप से बहुत सारे तोहफे लेकर आता है। निस्संदेह इस समय का सभी को तह-ए- दिल से इंतज़ार होता है।

इस फेस्टिव सीज़न में द बॉडी शॉप इंडिया ने प्लास्टिक्स फॉर चेंज (पीएफसी) इंडिया फाउंडेशन के साथ पार्टर्नशिप की है। अपनी सामुदायिक जड़ों और कार्यकर्ता विरासत से जुड़े रहते हुए द बॉडी शॉप अपने “एन.ए.आर.आई. (न्यूट्रीशन-एबिलिटी- रिट्रेनिंग-इंक्लूजन)” प्रोजेक्ट के जरिए महिला सशक्तिकरण और स्थिरता (सस्टेनेबिलिटी) के लिए काम कर रहा है। इस प्रोजेक्ट के जरिए द बॉडी शॉप भारत के अदृश्य फ्रंटलाइन कोविड-19 योद्धाओं, वेस्टेज बीनने वाली महिलाओं के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने की कोशिश कर रहा है। बॉडी शॉप ने प्रोजेक्ट N.A.R.I की स्थापना की है।

इस प्रोजेक्ट के जरिए वेस्टेज बीनने वाली महिलाओं की मदद के लिए धन जुटाने का प्रयास किया जा रहा है। बॉडी शॉप अपने सभी ऑनलाइन और ऑफलाइन स्टोर्स में ग्राहकों से 20 रुपए का स्वैच्छिक उपभोक्ता दान देने की गुजारिश कर रहा है और प्रत्येक ग्राहक के 20 रुपए दान देने पर उतनी ही राशि बॉडी शॉप इस फंड में मिलाएगा। इस प्रयास के जरिए द बॉडी शॉप का उद्देश्य अगले 6 महीनों में वेस्टेज बीनने वाली महिलाओं के पोषण, क्षमता, पुनः प्रशिक्षण और उन्हें समाज की मुख्यधारा में जोड़ने के लिए जागरूकता पैदा करने हेतु 5 मिलियन रुपए जुटाना है।

द बॉडी शॉप इंडिया की सीईओ सुश्री श्रुति मल्होत्रा ने प्रोजेक्ट के बारे में कहा कि “द बॉडी शॉप हमारी संस्थापक अनीता रोडिक के इस विचार के प्रति गहराई से प्रतिबद्ध है कि हम अपने व्यवसाय के जरिए समाज के लिए अच्छा काम कर सकते हैं। प्रोजेक्ट N.A.R.I के माध्यम से, हम जागरूकता पैदा करने और एक्टिविज्म की भावना के साथ काम करते हुए स्थानीय समुदायों को लाभ पहुंचाने के लिए धन जुटाना चाहते हैं। हमने प्लास्टिक फॉर चेंज के साथ वैश्विक साझेदारी की है, हम भारत में कचरा बीनने वाली महिलाओं के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए भी काम कर रहे हैं, जो कोविड-19 के कारण अपने जीवन और आजीविका के लिए अभूतपूर्व खतरा का सामना कर रही है। इस वर्ष हम सभी कोविड-19 महामारी की गंभीरता से प्रभावित हैं, हम महसूस करते हैं कि हम इन फ्रंटलाइन वारियर्स के कितने एहसानमंद हैं, जो खुद खतरा मोल लेकर हमें बड़े जोखिम से सुरक्षित रखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here