असुरक्षित बेटियां: लखनऊ के आशियाना में स्कूल गयी मासूम से की छेड़खानी

0
1007

म्युजिक टीचर की करतूत, नाजुक अंगो में पहुंचायी चोट, परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्जकर किया गिरफ्तार, पुलिस ने मामला माना संदिग्ध, प्रिंसिपल ने भी आरोपी को बताया बेकसूर

लखनऊ। आशियाना में स्कूल गयी एक मासूम से म्युजिक टीचर ने छेड़खानी की। उसके नाजुक अंगो में चोट पहुंचायी। इसकी भनक परिजनों को तब लगी जब बच्ची घर पहुंची। परिजन उसे अस्पताल ले गए लेकिन डॉक्टरों ने मामला पुलिस का बताकर इलाज से इंकार कर दिया। तब पीड़ित परिवार थाने पहुंचा। उसने पुलिस को घटना की जानकारी दी। छानबीन की गयी तो मासूम ने खुद आरोपी टीचर को पहचाना। उसके खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस घटना को संदिग्ध मान रही है। वहीं स्कूल की प्रिंसिपल ने भी टीचर को निर्दोष बताया है।

यह घटना बुधवार की है। आशियाना के सेक्टर-जी में एक निजी स्कूल है। उसी इलाके में वहीं की रहने वाली एक ढाई साल की मासूम पढ़ती है। उसे परिजन सुबह घर से स्कूल छोड़कर आए थे, जिसे दोपहर में लेने पहुंचे तो बच्ची रोने लगी। मां ने घर जाकर उससे रोने की वजह पूछी। उसके आपबीती बताने के बाद परिवार वाले उसे निजी अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने इलाज किया। उन्हें नाजुक अंगों में चोटे दिखीं तो उन्होंने इसकी वजह पूछी। तब मां ने स्कूल में छेड़खानी की बात कही। बाद में डॉक्टरों ने इसे पुलिस केस बताया और इलाज करने से मना कर दिया। बाद में महिला बेटी को लेकर परिजनों संग शाम को आशियाना थाने पहुंची। पुलिस को बताया तो वो उसे लेकर स्कूल गयी। वहां लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं पाया गया। बाद में छेड़खानी की बात सामने आने पर स्कूल का स्टाफ एकत्र किया गया। उनमें से बच्ची को आरोपी को पहचानने के लिए कहा गया। तब उसने म्युजिक टीचर पवन गुप्ता (24) को पहचाना। वो सेक्टर-एच में रहता है। स्कूल में उसकी 15 मिनट की क्लास होती है। इस दौरान एक टीचर व आया वहां मौजूद रहते हैं। फिलहाल पुलिस ने पीड़िता की मां की तहरीर पर मामला दर्जकर देर रात पवन को गिरफ्तार कर लिया। उसे गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया, जिसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।