अर्जुन भव संस्कार पथ शिविरों में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

0
420

लखनऊ, 17 मई 2019: गीता परिवार की ओर से चल रहे तीन दिवसीय अर्जुन भव संस्कार पथ शिविरों का शुक्रवार को समापन हुआ। इस मौके पर विजयी बच्चांे को पुरस्कृत किया गया। शांति ज्योति पब्लिक हायर सेकेंडरी स्कूल मड़ियांव में भगवद्गीता में निहारिका रावत, ध्यान में इंद्रजीत मौर्या, सर्वश्रेष्ठ शिविरार्थी में जूही खान, एसपीबीपी जूनियर हाईस्कूल चारबाग में आदर्श बालिका में अंजना, गीता में दिव्यांश, खुशी, मां भगवती पब्लिक स्कूल राजाजीपुरम में श्लोक में खुशी अवस्थी, नैंसी, सर्वश्रेष्ठ बालक-बालिका में शुभांशु चौरसिया, निहारिका यादव, प्राथमिक विद्यालय हैदरगंज में अर्जुन साधना में कुमकुम, सर्वश्रेष्ठ शिविरार्थी में शिवा, क्राइस्ट किड्स केअर स्कूल तेलीबाग में ध्यान में तनु दीक्षित, प्रतिभावान बालिका में अदिति मिश्रा, धु्रव साधना में शिवा वर्मा, ज्ञानदीप पब्लिक स्कूल पारा में गीत में आर्यन दीप, श्लोक में रंजनी भारती, सर्वश्रेष्ठ शिविरार्थी में मुस्कान सोनी विजयी रही।

इस अवसर पर मुख्य अतिथियों में अलोक मिश्रा, सांची बाजपेई, विकास विक्रम सिंह, साक्षी वर्मा, रूबी श्रीवास्तव, अजरा, सत्येंद्र, सुनीता उपस्थित रही। शिविर समापन पर अतिथियों के समक्ष सिखायी बातों का मंचन किया गया तथा प्रतिभावान बालक-बालिकाओं ने शिविर अनुभव बताये। इस मौके पर अतिथियों ने कहा सभी बच्चे अपने माता-पिता, गुरुजनों व बड़ों का सम्मान करेंगे और शिविर में सिखायी बातों को जीवनपर्यन्त पालन करने का शपथ ली।

स्कूली शिविरों का निर्देशन सूर्या गुप्ता, वंशिका शुक्ला, अंजलि द्विवेदी, अनुराधा मिश्रा तथा उदय साहू, दृष्टि यादव, यश रस्तोगी, अभय द्विवेदी, उद्देश्य बाजपेई ने विभिन्न प्रतियोगिताएं कराई तथा सत्रों का आयोजन किया गया। मीडिया प्रभारी ने बताया कि अर्जुन भव शिविर में बच्चों ने व्यक्तित्व विकास के गुर सिखे तथा अपनी बहुमुखी प्रतिभा से परिचित कराया। गीष्मकालीन शिविरों का उद्देश्य यह कि बच्चों में ईश्वरभक्ति, राष्ट्रभक्ति व कर्तव्य भावना का निर्माण किया जा सके। बच्चों को बौद्धिक, शारीरिक, मानसिक व आध्यात्मिक दृष्टि से उन्नत करने का प्रयास किया जा रहा है।

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here