औषधीय पौधों को खाना पसंद नहीं करतीं टिड्डियां

0
250

सीमैप के अश्वगंधा सहित सभी सगंध पौधे सुरक्षित, सीमैप के निदेशक ने दिया शोध पर जोर, कहा, कोई ऐसा तत्व है, जिसे पसंद नहीं करतीं टिड्डियां

लखनऊ, 13 जुलाई 2020: रविवार को लखनऊ में पहुंचे टिड्डियोंं के दल ने सीमैप में लगे औषधीय पौधों को नुकसान नहीं पहुंचाया, जबकि पास में ही लगी पारंपरिक पौधों को चट कर गयीं। इससे यह वैज्ञानिक यह निष्कर्ष निकाल रहे हैं कि औषधीय पौधों में कोई ऐसा तत्व है, जिसे टिड्डियां पसंद नहीं करतीं।

इस संबंध में सीएसआईआर-सीमैप के निदेशक डाक्टर प्रबोध कुमार त्रिवेदी ने सोमवार को बताया कि आज इस फार्म पर सुबह क्षति के लिए आकलन करने हेतु सर्वेक्षण किया गया। इसमें यह देखने को मिला कि औषधीय एवं सगंध फसलों जैसे अश्वगन्धा, पामरोज़ा, सफेद मूसली, आर्टीमिशियां, नीबूघास, तुलसी, मेन्था इत्यादि को टिड्डियों के दल ने बिल्कुल नुकसान नही पहुंचाया। वहीं इनके आसपास लगी हुई पांरपरिक पौधों जैसे डैंचा, बाजरा, मक्का तथा सब्जी फसल इत्यादि को लगभग पूरी तरह नष्ट कर दिया। इसको देखकर यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि औषधीय एवं सगध फसलों में ऐसे तत्व मौजूद है कि जिनको टिड्डियां पसंद नहीं करती हैं। इसलिए इन पौधों को बिल्कुल नुकसान नहीं पहुंचाया।

उन्होंने कहा कि इसके कारण जानने हेतु शोध कार्य करने की आवश्यकता है तथा इन पौधों से जैविक कीटनाशक बनाने की सम्भावना हो सकती है। जब इस बात की पुष्टि के लिए आसपास के औषधीय एवं सगध फसलों की खेती कर रहे किसानो से वार्ता के दौरान पता चला कि उनके खेत में भी लगे औषधीय एवं सगध पौधों को टिड्डियों के दल ने कोई नुकसान नही पहुचाया जहां पारम्परिक फसलों को काफी क्षति पहुंचाया है।

यह बता दें कि टिड्डी दल लाखों की संख्या में पाकिस्तान से भारत में दाखिल हुए और ये दल राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कई जिलो में किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचाते हुए उत्तर प्रदेश में दाखिल हुए। पिछले सप्ताह आगरा, फिरोजाबाद, कन्नौज, हरदोई एवं सीता के रास्ते फसलो को क्षति पहुचाते हुए कल दोपहर लखनऊ में दाखिल हुए तथा विभिन्न फसलो को नुकसान पहुंचाया। रविवार को टिड्डियों के दल ने सी.एस.आई.आर.-सीमैप के लगभग 25 एकड़ के रिर्सच फार्म पर आक्रमण किया जहां पर औषधीय एवं सगध पौधों के साथ-साथ पांरपरिक फसलों को भी उगाया जाता है। टिड्डी दल का डेरा सीमैप फार्म लखनऊ में दोपहर 1:30 से 2:30 के बीच रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here