लविवि के छात्रों ने पुराना हैदराबाद में मचाया उपद्रव

0
338

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय परिसर में मंगलवार को छात्रों की एक साइबर कैफे मालिक व उसके दोस्त से हुयी कहासुनी के दूसरे दिन छात्रों ने दोनों को पुराना हैदराबाद इलाके में टहलता देख उन्हें घेर लिया। उन पर पथराव किया और जब वो हाथ नहीं आए तो बगल के एक हॉस्टल में घुसकर जमकर उत्पात मचाया। बाहर खड़े वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। हडकंप मचा तो लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। वो जब तब पहुंचती छात्र फायरिंग करते हुए वहां से भाग निकले थे। पुलिस घटना से इंकार करती रही, जबकि कैफे मालिक ने महानगर कोतवाली में छात्रों के खिलाफ तहरीर दी है।
यह घटना दोपहर करीब 12 बजे की है। बताया जाता है कि अमीनाबाद में साइबर कैफे चलाने वाले दिलीप कुमार पुराना हैदराबाद महानगर में रहते हैं। वो मंगलवार को एक काउंसिलिंग के सिलसिले में साथी रवि के साथ विश्वविद्यालय गए थे। जहां उनकी कुछ छात्रों से किसी बात पर कहासुनी के बाद हाथापाई हो गयी थी।
बवाल बढ़ने पर अन्य छात्रों ने बीच-बचाव कर मामले को रफा-दफा कर दिया था। उधर दिलीप दोपहर में साथी रवि के साथ घर के पास स्थित नारायण होटल के करीब टल रहा था, तभी वहां विवि के कई छात्र आ धमके। उन्होंने दिलीप व रवि को देख अपने बाकी साथियों को भी फोन कर बुला लिया। तकरीबन 3 दर्जन से अधिक छात्रों ने वहां पहुंचकर दिलीप व रवि को घेर लिया। उन पर पथराव किया पर वो बच निकले। नाराज छात्रों को किसी ने बगल में स्थित हॉस्टल दिलीप का बताया। बाद में उग्र छात्र अंदर घुस गए।
जहां उन्होंने करीब आधे घण्टे रहकर जमकर उत्पात मचाया। एक कार व पांच मोटरसाईकिलें क्षतिग्रस्त कर दीं। यही नहीं घटना के बाद जाते वक्त उन्होंने दहशत फैलाने के लिए फायरिंग भी की। पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। प्रभारी निरीक्षक महानगर विकास पाण्डेय ने मीडिया के पूछने पर घटना से इंकार कर दिया। उधर क्षेत्राधिकारी विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि दिलीप व रवि ने छात्रों से मारपीट की थी, जिसके चलते छात्रों ने पुराना हैदराबाद में जाकर उन्हें मारने-पीटने की कोशिश की और नाकाम रहने पर चलते बने। पीड़ित ने तहरीर दी है, एफआईआर दर्जकर कार्रवाई की जाएगी। वसं.