दूसरी दुनिया से आ रहे हैं रेडियो संकेत, वैज्ञानिक जुटे फ्रेक्वेंसी रहस्य सुलझाने में

0
17
imaging

आ रही लो फ्रिक्वेंसी

एक मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वैज्ञानिकों के अंतरराष्ट्रीय दल ने पहली बार सौरमंडल के बाहर स्थित ग्रह से आ रहे रेडियो संकेतों का पता लगाया है। यह संकेत 51 प्रकाशवर्ष दूर स्थित किसी ग्रह प्रणाली से आ रहे हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार वैज्ञानिकों ने जानकारी दी कि नीदरलैंड स्थित रेडियो दूरबीन ने लो फ्रिक्वेंसी अरे (लोफर) का इस्तेमाल कर टाउ बूट्स तारे की प्रणाली से आ रहे हैं जिसे रेडियो संकेतों के माध्यम से पता लगाया गया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इसके बहुत करीब गैस से बना ग्रह चक्कर लगा रहा है और जिसे कथित ‘गर्म बृहस्पति’ के नाम से भी जाना जाता है।

‘गर्म बृहस्पति’ के नाम से जाना जाता है ग्रह वैज्ञानिकों को मिली सफलता, 51 प्रकाशवर्ष दूर स्थित ग्रह से पहली बार मिले रेडियो संकेत टाउ बूट्स तारे से

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पहली बार रेडियो संकेत से खोज जर्नल ‘ऐस्ट्रोनॉमी ऐंड एस्ट्रोफिजिक्स’ में प्रकाशित रिसर्च पेपर में बताया गया कि केवल टाउ बूट्स ग्रह प्रणाली से ही निकल रहे रेडियो संकेत का पता चला है जो शायद ग्रह के विशेष चुंबकीय क्षेत्र की वजह से निकल रहे हैं। वहीं, कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में पोस्टडॉक्टोरल रिसर्चर जेकडी टर्नर ने कहा, ‘रेडियो संकेत के जरिये हमने पहली बार सौर मंडल के बाहर ग्रह का पहला संकेत पेश किया है।’ उन्होंने कहा, ‘ये संकेत टाउ बूट्स प्रणाली से आ रहे हैं जिसमें दो तारे और ग्रह है।

रिसर्चर वैज्ञानिक टर्नर ने कहा, ‘सौर मंडल के बाहर के ग्रह पर पृथ्वी जैसा चुंबकीय क्षेत्र संभावित जीवन । योग्य अवस्था में योगदान दे सकता है क्योंकि यह उसके वायुमंडल को सौर तूफान और ब्रह्मांड के घातक किरणों से बचाता है और ग्रह के वायुमंडल को नष्ट होने से भी रोकता है।’

दूर की दुनिया से आ रहे हैं संकेत :

रिसर्चर ने कहा कि अगर इस ग्रह की पुष्टि बाद के अध्ययन से होती है तो रेडियो संकेतों के जरिये सौर मंडल के बाहर के ग्रहों का पता लगाने का एक नया मार्ग खुलेगा और सैकड़ों प्रकाशवर्ष दूर की दुनिया के बारे में जानने का नया तरीका मिलेगा। टर्नर ने कहा कि चुंबकीय क्षेत्र के आधार पर सौर मंडल के बाहर के ग्रह का पता लगाने से अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को उस ग्रह की बनावट और वायुमंडल के गुणों का पता लगाने में भी मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here