मारा गया तेंदुआ, ख़त्म हो गया आतंक

0
836
फोटो कुलदीप सिंह से साभार

जाल को फाड्कर गांव की तरफ भाग कर हकीम के निर्माणाधीन मकान में छिप कर बैठ गया था 

तांडव मचा रहे तेंदुए पर थाना प्रभारी ने ताबड़तोड़ पाँच राउंड फायर करके घायल कर दिया

No automatic alt text available.

लखनऊ, 17 फरवरी। औरंगाबाद में ‘तेंदुए का आतंक, आज ख़त्म हो गया। औरंगाबाद के जहाँगीर गांव के एक मकान के किचन में घुसे तेंदुए को वन विभाग और सेना ने मार गिराया। बताया जाता है कि तेंदुए ने प्रभारी आशियाना व कई लोगों को पंजा मार कर घायल कर दिया था, रिहायशी इलाके में तेंदुआ के घुसने से ग्रामीणों में दहशत मच गयी थी। तांडव मचा रहे तेंदुए पर थाना प्रभारी ने ताबड़तोड़ पाँच राउंड फायर करके घायल कर दिया जिससे वह पास के एक मकान के किचन में घुस गया और जब कुछ समय बाद देखा गया तो वह मृत मिला।

फोटो कुलदीप सिंह से साभार

मिली जानकारी के अनुसार तेंदुआ आज शनिवार सुबह करीब साढ़े 6 बजे जाल को फाड्कर गांव की तरफ भाग कर हकीम के निर्माणाधीन मकान में छिप कर बैठ गया। बताया जाता है कि मकीम का बेटा हशीन प्लाट में पड़ी लकड़ियां लेने गया था। इस दौरान ज्यों ही हशीन लड़की का गट्ठा उठा कर चला, तभी तेंदुए ने उसके ऊपर हमला कर दिया। हशीन की शोरगुल सुनकर ग्रामीण मौके पर दौड़कर पहुंचे और तेंदुए पर लाठी डंडो से हमला कर दिये। इस दौरान तेंदूए ने अनवर अली, नियाज, मुन्ना, तालिब जैदी, मोहम्मद कुरैश, तहशुन निशा समेत कई अन्य लोगों को घायल करके हासिब के घर में घुस गया।

माँ के ऊपर हमला होते देख तेंदुए के सिर पर गमला उठाकर दे मारा:

मोहम्मद रजि ने बताया कि उनकी माँ तहशुन निशा आंगन में बैठी थी तभी एकाएक तेंदुआ घर में घुस कर उनके ऊपर हमला कर दिया। माँ के ऊपर हमला होते देख कर उन्होंने घर रखा गमला उठाकर तेंदुए के सिर पर मार दिया। जिससे घबरा कर तेंदुआ उनको छोड़ दिया।

पुलिस की गोली से मारा गया?

मोहम्मद रजि के मुताबिक इस दौरान थाना आशियाना प्रभारी त्रिलोकी नाथ सिंह अपने हमराह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और आंगन में तांडव मचा रहे तेंदुए पर त्रिलोकी नाथ सिंह ने ताबड़तोड़ पाँच राउंड फायर करके घायल कर दिया। गोली लगने से घायल हुआ तेंदुआ किचन में घुस गया। इस पर किचन का बाहर से दरवाजा बंद कर दिया गया। इस दौरान तेंदुए के हमले से एसओ आशियाना त्रिलोकी नाथ सिंह गंभीर रुप से गायल हो गये। कुछ देर बाद किचन खोल कर देखा गया तो तेंदुआ मरा मिला। घायल त्रिलोकीनाथ सिंह का लोकबंधु अस्पताल में इलाज चल रहा है।

प्रशासन और इलाकाई लोग आमने-सामने

आक्रोशित लोग तेंदुए को वन विभाग को सौंपने के बजाय उसे खुद जान से मारने की बात कह रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है,कि आदमखोर तेंदुआ कई लोगों को घायल कर चुका है। दो दिनों से वनविभाग टीमें तेंदुए को पकड़ने में नाकाम साबित हुई हैं। जब खूखांर तेंदुआ कमरे में घुस गया है तो उसे जान से मार देना ही उचित होगा। उधर जिला प्रशासन तेंदुए को सुरक्षित पकड़ कर वन विभाग को सौंपने की बात कह रहा है। इस बात पर स्थानीय लोग और जिला प्रशासन में ठनी हुई।

आशियाना एसओ को 50 हजार का इनाम देने का ऐलान

तेंदुए को मार गिराने की जानकारी पर मौके आईजी,एसएसपी लखनऊ समेत पुलिस वन विभाग के अधिकारी पहुंचे। तेंदुए का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया और आईजी ने घायल आशियाना एसओ त्रिलोकी नाथ सिंह को 50 हजार रुपये का इनाम देने का ऐलान किया।

Posted by Basant Kanaujiya on Saturday, February 17, 2018

पढ़े इससे सम्बंधित खबर:

औरंगाबाद में ‘तेंदुआ आया’ का आतंक, ड्रोन से निगरानी, रेस्क्यू अभियान जारी