तेजस्वी यादव देंगे इस्तीफा, रोहिणी बन सकती है डिफ्टी सीएम

0
353

पटना। बिहार के महागठबंधन में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर हाई वोल्टेज ड्रामा अभी भी जारी है। सूत्रों के हवाले से खबर सामने आ रही है कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव इस्तीफा देंगे। वहीं महागठबंधन को बचाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजेडी अध्यक्ष लालू यादव और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन पर बात की है। सूत्रों के मुताबिक सोनिया ने दोनों नेताओं से स्पष्ट रूप से कहा है कि वे कोई बीच का रास्ता निकालें ताकि गठबंधन बना रहे। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक तेजस्वी यादव राष्ट्रपति चुनाव के बाद राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं।
वहीं दूसरी ओर लालू यादव ने सियासी ड्रामे को खत्म करने का नया रास्ता निकाल लिया है। सूत्रों के मुताबिक अगर तेजस्वी नीतीश के दबाव में इस्तीफा देते हैं तो लालू प्रसाद अपनी बेटी रोहिणी का नाम डिप्टी सीएम पद के लिए सामने कर सकते हैं। रोहिणी का नाम अभी तक किसी घोटले में नहीं आने की वजह से वो डिप्टी सीएम पद की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं। वहीं जेडीयू ने तेजस्वी यादव को अपने मंत्रिमंडल से बाहर करने की तैयारी शुरू कर दी है लेकिन आरजेडी तेजस्वी के इस्तीफे पर सरकार को धमकी दे रही है। आरजेडी के मनेर से विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा है कि जेडीयू को यह नहीं भूलना चाहिए कि आरजेडी के पास 80 विधायक हैं, महागठबंधन में वही होगा जो वह चाहेंगे। इस पर शुक्रवार को जेडीयू की ओर से आरजेडी को करारा जवाब दिया गया है। जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि सत्ता हमारे लिए जरूरी नहीं है, वह 5 मिनट के अंदर सरकार को छोड़ देंगे। वहीं सूत्रों का कहना है कि नीतीश कुमार तेजस्वी यादव के इस्तीफे पर अड़ गए हैं। खबर है कि अगर तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे, तो नीतीश कुमार खुद ही इस्तीफा दे सकते हैं।
गौरतलब है कि एक सप्ताह पहले सीबीआइ ने लालू प्रसाद के 12 ठिकानों पर छापेमारी की थी। इसके बाद सीबीआई ने लालू-राबड़ी तथा उनके डिप्टी सीएम बेटे तेजस्वी यादव पर एफआइआर दर्ज की। छापेमारी के बाद सीएम नीतीश कुमार ने नाम लिए बिना कहा था कि जिनपर आरोप लगे हैं, उन्हें अपनी बात रखकर खुद को बेगुनाह साबित करना होगा। साथ ही जदयू का बयान आया कि पार्टी भ्रष्टाचार व अपराध से कोई समझौता नहीं करने वाली है।