मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाना हमारा लक्ष्य: मंत्री

0
• स्वास्थ्य संचार कुम्भ का हुआ आगाज
• “स्वास्थ्य संचार पुस्तिका” एवं “स्वास्थ्य दर्पण” का किया गया विमोचन
प्रयागराज, 25 जनवरी-2019: पहला सुख निरोगी काया अब न हो बीमारियों का साया की शुभेच्छा के साथ स्वास्थ्य विभाग हर आयु वर्ग के लोगों को उत्तम स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान कर जीवन में खुशहाली लाने की अनूठी पहल करने जा रहा है। इसके तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने “साझी कोशिश उत्तम व्यवहार स्वस्थ जीवन खुशहाल परिवार” के स्लोगन के साथ स्वास्थ्य संचार कुम्भ की शुरुआत की है। इसका आगाज वृहस्पतिवार को परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने प्रयाग की पावन भूमि से किया। यह अभियान कुम्भ की कालावधि तक चलेगा।
परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि मातृ एवं शिशु दर में कमी लाना हमारी सरकार का लक्ष्य है। इस दिशा यहां आयोजित स्टाल के जरिये लोगों को जागरूक करने का एक महत्तवपूर्ण प्रयास है. कुम्भ मेले के दौरान लोग यहां लगी स्टाल से बच्चियों के जन्म से लेकर मां बनने तक स्वास्थ्य संबंधी पूरी जानकारी ले सकते हैं।
इस अवसर पर स्वयंसेवी संगठन सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफॉर) के तकनीकी सहयोग से तैयार की गयी सभी आयु वर्ग के लिए संकलित किए गए स्वास्थ्य मंत्रो की “स्वास्थ्य संचार पुस्तिका” और सीफॉर के सहयोगा से ही संकलित व प्रकाशित ई-न्यूज़ लेटर “स्वास्थ्य दर्पण” का भी विमोचन किया गया। इसके अलावा ग्लोबल हेल्थ एस्ट्रेट्जी (जीएचएस) द्वारा आईईसी/बीसीसी सामग्री की ऑनलाइन रिपोजेटरी (वीडियो/जिंगल्स) को भी सार्वजनिक किया, जिसे अब कोई भी स्वास्थ्य संचार के लिए उपयोग कर सकता है।
कुम्भ से संबन्धित पाकेट कैलेंडर, पोस्टर व एफएम न्यूज़ के लिए जिंगल की भी इस मौके पर शुरुआत की गयी। इस अवसर पर माननीय मंत्री ने वहाँ लगी प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया और कम्यूनिटी इम्पॉवरमेंट लैब द्वारा की जा रही कंगारू मदर केयर पद्धति की भूरि भूरि प्रशंसा की. उन्होंने कहा की प्रदेश के 70 जनपदों के सभी महिला चिकित्सालयों में केएमसी लाउंज स्थापित किये जा चुके हैं। स्वास्थ्य संचार कुम्भ का आयोजन सरकार, स्वास्थ्य हित धारकों और आम लोगों का साझा प्रयास होगा। इसके तहत विविध माध्यमों के जरिये हर आयु वर्ग के स्वास्थ्य से जुड़ीं सरकारी योजनाओं व सुविधाओं की जानकारी जन-जन तक पहुंचाई जाएगी।
इसके अलावा इसके जरिये लोगों को सेहत को लेकर जागरूक भी किया जाएगा क्योंकि आज के परिवेश में अधिकतर बीमारियाँ गलत जीवन शैली या फिर गलत आदतों के कारण घेर लेती हैं। बच्चों से जुड़ीं कई बीमारियाँ ऐसी हैं जिनको सावधानी बरतने से दूर किया जा सकता है, जैसे-दस्त, एनीमिया, कुपोषण आदि। इस अभियान के जरिये लोगों को स्वास्थ्य से जुड़े ऐसे टिप्स दिये जाएँगे ताकि वह निरोगी रह सकें। इसीलिए स्वास्थ्य संचार कुम्भ को पूरे उत्साह, उमंग व उल्लास के साथ पूरे प्रदेश में मनाया जाना है।
ज्ञात हो की स्वास्थ्य संचार कुम्भ एक योजनबद्ध अभियान होगा, जिसके तहत स्वस्थ जीवन शैली के लिए सम्पूर्ण जीवन चक्र सुरक्षित मातृत्व, स्वस्थ शिशु, खुशहाल बचपन, स्फूर्तिवान किशोर, नियोजित परिवार और सम्मानित वृद्ध से जुड़े हर पहलुओं का समावेश होगा। इसके साथ-साथ संचारी व गैर संचारी रोगों से बचने के लिए सरकार द्वारा चलायी जा रहीं विभिन्न योजनाओं, सुविधाओं और व्यवहार परिवर्तन के विभिन्न बिन्दुओं का समुदाय स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाएगा। इस अवसर पर अपर निदेशक डॉ एके पालीवाल, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी सत्येन राय समेत स्वास्थ्य विभाग के तमाम वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here