बिना फैकेल्टी बीबीएयू में बीटेक कोर्स की पढ़ाई शुरू

0
1010

लखनऊ । बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय (बीबीएयू) में नए शैक्षिक सत्र की शुरुआत शुक्रवार से हो गई। वह भी बिना प्रवेश प्रक्रिया पूरी किए और पिछले परीक्षा के रिजल्ट जारी किए बिना ही। इतना ही नहीं विवि में एक विभाग ऐसा भी जहां पर केवल डायरेक्टर को छोड़कर उस कोर्स में पढ़ाने के लिए एक भी फैकेल्टी नहीं है। ऐसे में छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है। लेकिन ऐसे में बिना शिक्षक के बीटेक जैसे कोर्सेस की पढ़ाई कैसे संभव है। इसी पर विवि प्रशासन कुछ भी बोलने से साफ बच रहा है।
बीबीएयू में बीटेक में पांच कोर्सेस का संचालन किया जाता है, जिसमें सिविल, इलेक्ट्रिक्स, इलेक्ट्रानिक्स, आईटी, सूचना और कंप्यूटर साइंस जैसे कोर्सेस का संचालन किया जाता है। इन कोर्सेस करीब तीन सौ सीटें है। यूनिवर्सिटी को यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) की ओर से इन कोर्सेस में पढ़ाने के लिए एक भी स्थाई नियुक्ति की मंजूरी नहीं दी गई है। ऐसे में इन कोर्सेस में बीते कई सालों से केवल गेस्ट फैकेल्टी या अनुबंधित शिक्षकों को नियुक्ति किया जाता था, लेकिन इस साल यूआईईटी (इंजीनियरिंग विभाग) के डॉयरेक्टर रहे प्रो. विपिन सक्सेना को सीबीआई की ओर से शिक्षकों की नियुक्ति में घूस लेने के मामले में पकड़े जाने के बाद विवि प्रशासन ने सभी कांट्रैक्ट पर रखे गए शिक्षकों को निकाल दिया था। ऐसे में शुक्रवार से शुरू हुए सेशन से पहले एक भी शिक्षकों की नियुक्ति नहीं हो सकी। ऐसे में विवि अपने भविष्य को लेकर परेशान है।
नहीं शुरू हो सकी नियुक्ति की प्रक्रिया
प्रो. विपिन सक्सेना के सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद इस विभाग की जिम्मेदारी एप्लाइड केमेस्ट्री के डीन प्रो. कमान सिंह को सौंपी गई थी। समय रहते न तो विवि और नहीं डायरेक्टर की ओर से गेस्ट फैकेल्टी और कांट्रेक्ट पर शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की । विवि के सूत्रों का कहना है कि छात्रों का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। जल्द ही सभी कांट्रेक्ट पर शिक्षकों की नियुक्ति की प्रकिया पूरी कर लिया जाएगा। ज्ञात हो कि इस कोर्स में एक भी स्थाई शिक्षक न होने के कारण पूरे बीटेक कोर्स में पढ़ने वाले छात्रों का भविष्य फंस गया है।
रिजल्ट के लिए भटकते रहे छात्र
बीबीएयू में शुक्रवार को नए सेशन के पहले दिन ज्यादातर स्टूडेंट्स अपनी क्लास में जाने के बजाए केवल अपना रिजल्ट जानने के लिए भटकते रहे। जिनके परीक्षा परिणाम आ गए हैं, उन्हें विभाग में कापियां दिखाई गई। छात्रों ने बताया कि अभी तो रजिस्ट्रेशन का काम शुरू होगा। दूसरी ओर कई छात्र स्थगित प्रवेश के बारे में भी जानकारी लेते दिखे। हालांकि विवि प्रशासन यह नहीं बता सका की स्थगित प्रवेश परीक्षा कब होगी।
कोट
जल्द ही शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर लिया जाएगा। छात्रों का किसी भी तरह से नुकसान नहीं होगा।
– प्रो. गोविंद जी पांडेय, प्रवक्ता बीबीएयू
अभी गेस्ट फैकेल्टी और विवि के साइंस डिपार्टमेंट के कुछ प्रोफेसर की मदद से कक्षाएं शुरू करा दी जाएगी। जल्द ही सभी खाली पदों को भर लिया जाएगा।
प्रो. कमान सिंह, डायरेक्टर, इंजीनियरिंग विभाग, बीबीएयू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here