सदन में सेवाओं का स्मरण

0
400
  • डॉ दिलीप अग्निहोत्री

कोरोना बचाव के दिशा निर्देशों के अनुरूप उत्तर प्रदेश विधान सभा का सत्र आयोजित किया गया। प्रथम दिन सेना, पुलिस के शहीदों के साथ ही दिवंगत पूर्व व वर्तमान सदस्यों की सेवाओं का स्मरण किया गया। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सेना के वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उनके बलिदान और शौर्य को प्रदेश हमेशा याद रखेगा।

कोविड से लोगों की जान बचाते हुए अपनी जान की आहुति देने वाले सभी चिकित्सा, स्वास्थ्य,स्वच्छता व, पुलिसकर्मियों और विभिन्न सेवाओं से जुड़े कोरोना वाॅरियर्स को भी श्रद्धांजलि दी गई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश को सुरक्षित रखने और कठिन परिस्थितियों में संभालने के लिए उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। उनकी निःस्वार्थ सेवा और भावना को प्रत्येक नागरिक नमन करता है। हृदय नारायण दीक्षित और योगी आदित्यनाथ ने विधान सभा में सदन की सदस्य व मंत्री कमल रानी वरुण, चेतन चैहान, वर्तमान विधान सभा के सदस्य पारसनाथ यादव, वीरेन्द्र सिंह सिरोही के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

सदन के पूर्व सदस्य तथा बिहार व मध्य प्रदेश के राज्यपाल रहे लालजी टण्डन के निधन पर भी शोक व्यक्त व्यक्त किया गया। इसके अलावा विधान सभा के दिवंगत पूर्व सदस्यों कृष्ण वीर सिंह रिछपाल सिंह बंसल, नरेन्द्र सिंह सिसोदिया,सुनीता चौहान, बेनी प्रसाद वर्मा, राम कृष्ण द्विवेदी, विश्राम दास, रमेश करन, बाबूलाल, यदुनाथ सिंह, जय नारायण शर्मा, ओम प्रकाश दिवाकर, शमीमुल हक,सुरेन्द्र शुक्ल,घूरा राम,डाॅ अरविन्द कुमार जैन, भाई लाल कोल, जीराज सिंह मौर्य और सुरेन्द्र प्रकाश गोयल के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की।

सपा के शैलेन्द्र यादव ‘ललई’, बसपा के लालजी वर्मा, काँग्रेस की आराधना मिश्रा ‘मोना’, अपना दल के नीलरतन सिंह पटेल ‘नीलू’, ने भी सभी दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए विधानसभा अध्यक्ष से अपने अपने दलों की भावनाओं से सभी दिवंगतों के परिजनों को अवगत कराने का अनुरोध किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here