डीबीएस को भारत में पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के रूप में परिचालन की अनुमति मिली

0

मुंबई, चार सितंबर : सिंगापुर के बैंक डीबीएस को अपने भारतीय परिचालन को पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी (डब्ल्यूओएस) में बदलने के लिए सैद्धान्तिक मंजूरी मिल गई है।
डीबीएस पहली विदेशी बैंक है जिसने रिजर्व बैंक के पास इसकी मंजूरी के लिए आवेदन किया था। पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के रूप में परिचालन के लिए लाइसेंस को डीबीएस ने 2014 में आवेदन किया था। यह आवेदन वित्त मंत्रालय के पास लंबित था।
मंत्रालय ने इस बारे में कोई पूर्व उदाहरण के अभाव में इसके लिए अनुमति देने में समय लगा दिया। स्टेट बैंक आफ मारीशस के बाद डीबीएस दूसरा बैंक है जिसे यह मंजूरी मिली है। सिंगापुर के सबसे बडे बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीयूष गुप्ता ने कहा कि हमें पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के रूप में परिचालन शुरू करने के लिए रिजर्व बैंक की सैद्धान्तिक मंजूरी मिल गई है। वह यहां बैंक के नए मुख्यालय के उद्घाटन के सिलसिले में आए थे।
गुप्ता ने कहा कि इस मंजूरी में यह व्यवस्था है कि अंतिम मंजूरी 12 महीने में ली जानी होगी। बैंक को भरोसा है कि वह छह से नौ माह में अंतिम मंजूरी हासिल कर लेगा। उन्होंने कहा कि पूंजीगत लाभ पर कर का मुद्दा सुलझ चुका है और बैंक को इसे देने की कोई जरूरत नहीं है।
इस साल मार्च में डीबीएस इंडिया के मुख्य कार्यकारी सुरोजीत शोम ने पीटीआई भाषा से कहा था कि मंजूरी में विलंब हो रहा है क्योंकि मंत्रालय इसमें समय लगा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here