संस्कृति शौर्य व सैनिक स्कूल

0
282

डॉ दिलीप अग्निहोत्री

योगी आदित्यनाथ शिक्षण संस्थान से संबंधित कार्यक्रमों में भारतीय संस्कृति व राष्ट्रीय स्वाभिमान का संदेश अवश्य देते है। इतना ही नहीं निर्माणाधीन विद्यालय भवन को भी वह भारतीय शैली के अनुरूप बनाने का निर्देश देते है। पिछले दिनों लखनऊ सैनिक स्कूल के स्वर्ण जयंती समारोह में भी इसी प्रकार के विचार व्यक्त किये थे। तब उनका कहना था कि वर्ष भर चलने वाले समारोह से भारतीय संस्कृति व शौर्य ही प्रतिध्वनित होना चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी ने गोरखपुर में बनने वाले सैनिक स्कूल भवन के संबन्ध में भी ऐसे ही निर्देश दिये उन्होंने कहा कि सैनिक स्कूल का स्वरूप भारतीय परम्परा,संस्कृति,शौर्य एवं पराक्रम को दर्शाता हुआ होना चाहिए। इसके निर्माण में आधुनिक तकनीक, डिजाइन और सुविधाओं का समावेश किया जाए। इसकी शैली उत्कृष्ट और जीवन्त हो। भवन में सैनिक स्कूल की आवश्यकताओं के अनुरूप व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं।

सैनिक स्कूल के भवन का वास्तु भारतीयता और यहां की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक बने। इसके अन्तर्गत निर्मित किए जाने वाले विभिन्न ब्लाॅकों का नामकरण भी भारतीय संस्कृति के अनुरूप किए जाने पर विचार किया जाए। निर्माण की प्रक्रिया चरणबद्ध व समयबद्ध ढंग से पूर्ण की जाये। अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने बताया कि गोरखपुर में प्रस्तावित सैनिक स्कूल के लिए उनचास एकड़ भूमि उपलब्ध करायी जा चुकी है।

इस सैनिक स्कूल में मल्टी परपज हाॅल,डाइनिंग हाॅल, ब्वाॅयज व गर्ल्स हाॅस्टल, आवासीय भवन निर्मित होंगे। इनके अलावा रेन वाॅटर हार्वेस्टिंग और सौर ऊर्जा की व्यवस्था रहेगी। विभिन्न प्रकार के खेलों के लिए मैदान व सीवरेज ट्रीटमेन्ट प्लाण्ट भी निर्मित होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here