क्या 23 सितंबर को खत्म हो जाएगी दुनिया?

0

दुनिया भर में कॉन्सपिरेसी थ्योरिस्ट्स का दावा है कि 23 सितंबर को एक ग्रह पृथ्वी से टकराने ‌वाला है और इसके साथ ही धरती पर जीवन का अंत हो जाएगा। हालांकि, वैज्ञानिक इससे इनकार कर रहे हैं


वॉशिंगटन। क्या 23 सितंबर को दुनिया खत्म हो जाएगी, इस सवाल ने सबको परेशान कर रखा है। सोशल मीडिया पर आजकल यह सवाल चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल दुनियाभर में कॉन्सपिरेसी थ्योरिस्ट्स का दावा है कि 23 सितंबर को एक ग्रह पृथ्वी से टकराने ‌वाला है और इसके साथ ही धरती पर जीवन का अंत हो जाएगा। हालांकि, वैज्ञानिक इससे इनकार कर रहे हैं।

‘प्लेनेट एक्स-द 2017 अराइवल’ के लेखक डेविड मीडे का दावा है कि 23 सितंबर, 2017 को प्लेनेट एक्स के नाम से जाने जाना वाला ग्रह निबेरू धरती से टकराएगा। वैज्ञानिक इस ग्रह के अस्तित्व से इनकार कर रहे हैं, लेकिन डेविड अपने दावों को लेकर आश्वस्त हैं। डेविड का कहना है कि बाइबल को पढ़ने के बाद वे अपने दावे को लेकर आश्वस्त हैं।
डेविड संग अन्य कॉन्सपिरेसी थ्योरिस्ट्स ‘ओल्ड टेस्टामेंट’ किताब (बाइबल का पहला खंड) के चैप्टर 13 की 9वीं और 10वीं आयत का हवाला दे रहे हैं। इसमें लिखा है- ‘देखो, कयामत का दिन आ रहा है- एक निर्दयी दिन, जो क्रोध और भयंकर गुस्से के साथ इस भूमि को उजाड़ देगा और उसमें रहने वाले पापियों का नाश कर देगा। स्वर्ग के सितारे और उनके तारामंडल अपनी रोशनी नहीं दिखाएंगे। सूरज अंधकारमय हो जाएगा और चंद्रमा प्रकाश नहीं दे पाएगा।’

डेविड के मुताबिक 23 अगस्त को अमेरिका में पड़े पूर्ण सूर्यग्रहण के साथ विनाश की शुरुआत हो चुकी है। मान्यता है कि निबेरू ग्रह के एलियन्स ने ही हम इंसानों को धरती पर जन्म दिया था। एलियंस पहली बार अफ्रीका में सोने की खान की खोदाई के लिए आए थे। उन्हें इसके लिए एक फोर्स की जरूरत थी। इसी कारण उन्होंने इन्सान बनाए।